9th Class Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं

Class 9 Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure )

Class 9 Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure ) 9th Class Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure )

Table of Contents

Class 9 Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure )

9th Class Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं

9th Class Science Notes in Hindi chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure ) इस अध्याय में हमे पदार्थ, मिश्रण,  समांगी मिश्रण, विषमांगी मिश्रण,  विलयन, विलेय, विलायक, संतृप्त विलय, असंतृप्त विलय और भी बहुत कुछ इस अध्याय से जुड़ा पढ़ने को मिलेगा।

इस Class 9 Science Chapter 1 Notes in Hindi क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure ) हमे बहुत कुछ नया पढ़ने को मिलेगा और बहुत कुछ नया सिखने को मिलेगा।

Chapter = 2

(हमारे आस-पास के पदार्थ)

➡️ पदार्थ किसे कहते हैं ?

  • पदार्थ एक प्रकार का द्रव्य है जो कि भौतिक प्रक्रमों द्वारा अन्य प्रकार के द्रव्य में पृथक नहीं किया जा सकता है। एक शुद्ध पदार्थ एक ही प्रकार के कणों का बना होता है।

➡️ मिश्रण किसे कहते हैं ?

  • मिश्रण एक पदार्थ है जो दो या अधिक तत्वों अथवा यौगिकों का बना होता है। मिश्रण कहलाता है।
  • Example – वायु, ऑक्सीजन, नाइट्रोजन, आर्गन, कार्बनडाइ ऑक्साइड और जल वाष्प गैसों का मिश्रण है।

➡️ मिश्रण के कितने प्रकार हैं ?

  • मिश्रण के दो प्रकार है।
  • (1) समांगी मिश्रण (Homogenous mixtures)
  • (2) विषमांगी मिश्रण (Heterogenous mixtures)

➡️ समांगी मिश्रण किसे कहते हैं ?

  • वे मिश्रण जिनमें पदार्थ परस्पर पूर्ण रूप से मिश्रित होते हैं और एक दूसरे से अविनेद्य होते हैं, समांगी मिश्रण कहलाते हैं।
  • Example – जल में शर्करा और (चीनी) का विलयन संमागी मिश्रण है।

➡️ विषमांगी मिश्रण किसे कहते हैं ?

  • वे मिश्रण जिसमें पदार्थ पृथक रहते हैं और एक पदार्थ छोटे कणों, छोटी-छोटी बूँदों अथवा बुलबुले के रूप में, दूसरे पदार्थ में हर जगह फैला रहता है, विषमांगी मिश्रण कहलाते हैं।
  • Example – शक्कर (चीनी) और बालू (रत) का मिश्रण

➡️ विलयन किसे कहते हैं ?

  • विलयन दो या दो से अधिक पदार्थों का समांगी मिश्रण है।
  • Example – नींबू जल, सोड़ा जल आदि विलयन के उदाहरण हैं।

➡️ विलयन के कितने प्रकार हैं ?

  • विलयन के दो प्रकार है।
  • विलेय (Solute )
  • विलायक (Solvent)

➡️ विलेय किसे कहते हैं ?

  • किसी विलयन में कम मात्रा में मौजूद पदार्थ को विलेय कहते हैं।

➡️ विलायक किसे कहते हैं ?

  • किसी विलयन मे अधिक मात्रा म मौजूद पदार्थ को विलायक कहते

➡️ विलयन के गुण बताओ ?

  •  विलयन के निम्नलिखित होते है।
  • इसके कण का व्यासा 1nm होता है।
  • इसे नग्न आँखों से नहीं देखा जा सकता है।
  • विलयन एक सामांगी मिश्रण है।
  • विलयन स्थायी होता है।

➡️ संतृप्त विलयम किसे कहते हैं

  • संतृप्त विलय जब विलायक की मात्रा अधिक और विलेय की मात्रा कम होती है उसे संतृप्त विलय कहते है।

➡️ असंतृप्त विलय किसे कहते हैं ?

  • असंतृप्त विलय जब विलेय की मात्रा अधिक और विलायक की मात्रा कम होती है उसे असंतृप्त विलय कहते है।

➡️ निलंबन किसे कहते हैं ?

  • दो या दो से अधिक पदार्थों के विषमांगी मिश्रण को निलंबन कहते है।
  • Example – रेत व पानी का मिश्रण, पानी व तेल का मिश्रण आदि ।

➡️ निलंबन के  के गुण बताए ?

  •  निलंबन के निम्नलिखित गुण है।
  • यह एक विषमांगी मिश्रण है।
  •  जिसके कण नग्न आँखों से देखे जा सकते है।
  • इस विलयन को जब शांत छोड़ दिया जाता है, तो विलयन के कण नीचे की ओर बैठ जाते है, अर्थात निलंबन अस्थायी होता है।
  • इस मिश्रण में पदार्थों को छानन विधि द्वारा अलग किया जा सकता है।

➡️ विलयन के गुण बताए ?

  • कोलाइडी विलयन निम्नलिखित गुण है।
  • यह एक विषमांगी मिश्रण होता है।
  • इन्हें नग्न आँखों से नहीं देखा जा सकता है।
  • इसे अपकेंद्रीकरण विधि द्वारा पृथक किया जा सकता है।
  • इस विलयन के कण अस्थायी होता है।
  • इस मिश्रण में पदार्थों को छानन विधि अलग नहीं किया जा सकता है।

➡️ टिंडल प्रभाव किसे कहते हैं ?

  • प्रकाश की किरणों का फैलना टिंडल प्रभाव कहलाता है।

9th Class Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं । टिंडल प्रभाव

➡️ अपकेन्द्रीकरण (Centrifugation) किसे कहते हैं ?

  • कणों या पदार्थों के घनत्व के कारण पृथक्करण जब किसी पदार्थ को तेजी से घुमाया जाता है तो (denser particle) भारी कण नीचे की तरफ दबाव डालते हैं तथा हल्के कण ऊपर चले जाते हैं।
  • Example – दूध से क्रीम पृथक करना।
  • मूत्र तथा रक्त को जाँचने के लिये प्रयोगशाला में इस्तेमाल किये जाते हैं।
  • क्रीम से मक्खन निकालने के लिए।

➡️ पृथक्करण कीप किसे कहते हैं ?

  • दो अघुलनशील द्रव को आसानी से पृथक्करण कीम द्वारा अलग कर सकते हैं।
  • Example – पानी से तेल पृथक करना।

➡️ उध्वपातन विधि किसे कहते हैं ?

  • मूल सिद्धान्त- दो पदार्थों उर्ध्वपातित हो जाता है जबकि दूसरा ऐसे ही रहता है।
  • Example – NH.CI (अमोनियम क्लोराइड) तथा खाने का नमक के मिश्रण को आसानी से अलग किया जा सकता है। मिश्रण को गर्म करने पर अमोनियम क्लोराइड सीधे ठोस से गैस बन जाता है जबकि नमक शेष रह जाता है।

➡️ क्रोमेटोग्राफी (Chromatography) किसे कहते हैं ?

  • किसी मिश्रण में रंगीन यौगिक, रंजित कणों को पृथक कर सकते हैं। किसी सोखने वाले पेपर की सहायता से जब पानी के कण ऊपर की और दो अलग-अलग रंग के साथ जाते हैं तो क्रोमेटोग्राफी पेपर द्वारा दोनों पृथक हो जाते हैं। क्योंकि दोनों रंग अलग-अलग गति से सोख लिये जाते हैं।
  • Example – रंगों (डाई) को पृथक करने के लिए।
  • क्लोरोफिल से रंजक पृथक करने के लिए।
  • खून से ड्रग पृथक करने में।

➡️ आसवन विधि (Distillation) किसे कहते हैं ?

  • यह विधि दो या दो से अधिक घुलनशील द्रवों को अलग करने के लिए किया जाता है।
  • Example – जब पानी और एसिटोन के मिश्रण को गर्म किया जाता है, क्योंकि एसिटोन का क्वथनांक (Boiling point) कम होता है, यह गर्म होकर वाष्पित होकर ट्यूब में चला जाता है जहाँ यह फिर द्रव बन जाता है। इस प्रकार एसिटोन बीकर में एकत्र हो जाता है जबकि पानी फ्लास्क में ही रह जाता है।

➡️ क्रिस्टलीकरण (Crystallisation) किसे कहते हैं ?

  • किसी मिश्रण से अशुद्धियों को दूर करने के लिए पहले किसी उपयुक्त विलयन में घोलना और क्रिस्टलीकरण द्वारा एक संघटक को पृथक करना।
  • Example – अशुद्ध कॉपर सल्फेट के क्रिस्टल को पहले सल्फ्यूरिक अम्ल में घोलते हैं और फिर गर्म करके विलयन को पृथक किया जाता है। जो विलयन बना था उसे पूरी रात रख कर छोड़ दिया जाता है. अतः केवल शुद्ध कॉपर सल्फेट के क्रिस्टल बनते हैं जबकि अशुद्धियाँ सल्फ्यूरिक अम्ल में ही रह जाती है। इस विलयन को फिल्टर पेपर की सहायता से छान लिया जाता है और शुद्ध क्रिस्टल प्राप्त कर लिए जाते हैं।

➡️ भौतिक तथा रासायनिक परिवर्तन में अंतर बताओं ?

भौतिक परिवर्तन रासायनिक परिवर्तन
  • यह उत्क्रमणीय होता है।
  • भौतिक परिवर्तन के दौरान कोई नया पदार्थ नहीं बनता है।
  • बहुत कम मात्रा में कमीय अथवा प्रकाश ऊर्जा जी या निकाली जाती है।
  • उदाहरण बर्फ का पिघलना
  • यह अनुष्कणीय होता है।
  • नये पदार्थ बनते हैं
  • एक रासायनिक परिवर्तन में एक बड़ी मात्रा में ऊष्मीय अथवा प्रकाश ऊर्जा ली या निकाली जाती है।
  • उदाहरण लकड़ी का जलना।

➡️ धातु, अधातु और उपधातु में अंतर बताओं ?

धातु अधातु उपधातु
  1. चमकदार होती हैं।
  2. अघातवर्ध्य होती हैं
  3. तन्य होती है अर्थात धातुओं को खींचकर तार बनाये जा सकते हैं।
  4. सोनोरस या ध्वानिक होती है।
  5. ये उष्मा तथा विद्युत की सुचालक है।
  6. उदाहरण, सोना, लोहा इत्यादि
  1. चमकदार नहीं होती
  2. आघातवर्ध्य नहीं होती है।
  3. तन्य नहीं होता है।
  4. सोनोरस नहीं होती है।
  5. कुचालक है। (सिवाय ग्रेफाइट) ऑक्सीजन और फास्फोरस
  1. ऐसे तत्व धातु और अधातु के बीच के गुणों को दर्शाता हैं।
  2. बोरोन, सिलिकॉन जरमेनियम

➡️ मिश्रण तथा यौगिक में अंतर बताओं ?

मिश्रण यौगिक
  1. तत्व या यौगिक केवल मिश्रण बनाने के लिए मिलते हैं।
  2. किसी नए पदार्थ का निर्माण नहीं करते। संघटन परिवर्तनीय होता है।
  3. मिश्रण में उपस्थित घटक अपने गुण धर्मों को दर्शाते हैं।
  4. घटकों को भौतिक विधियों द्वारा सुगमता से पृथक किया जा सकता है।
  5. उदाहरण-लोहा तथा गधक का मिश्रण
  1. एक पदार्थ क्रिया करके नए पदार्थ का निर्माण करते हैं।
  2. नये पदार्थ का संघटन सदैव स्थाई होता है। अपने द्रव्यमान के अनुसार एक निश्चित अनुपात में ही एक साथ मिलते हैं।
  3. नये पदार्थ के गुण धर्म पूरी तरह भिन्न होते हैं।
  4. घटकों को केवल रासायनिक या वैद्युत रासायनिक प्रक्रिया द्वारा ही पृथक किया जा सकता है।
  5. उदाहरण गंधक तथा लोहा आपस में क्रिया करके आयरन सल्फाइड बनाते हैं।

Class 9 Science Chapter 2 Notes in Hindi क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure ) आशा करते है की आपको हमारी जानकारी पसंद आई होगी।

अगर आपको हमारे 9th Class Science Notes in Hindi Chapter 2 क्या हमारे आस-पास के पदार्थ शुद्ध हैं (Is Matter Around Us Pure ) पसंद आए तो इसे आपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.